सोचा आज कुछ लिखूँ


सोचा आज कुछ लिखूँ
सिर्फ तुम्हारे लिये
कलम चली ही नहीं
हँस पड़ी मुझ पर
भाव शून्य हो गए
दिल धड़का ही नहीं
मन कर रहा प्रयास बार-बार
फिर भी नहीं उठे
ह्रदय में उदगार
अब हम परेशां
लिखें भी तो क्या
न कुछ सूझने की,है क्या वजह!
ऐ मेरे अन्तर्मन कुछ तो बताओ
है कैसी ये पहेली?
बेबस हैं हम,लाचार भी
हुआ क्या है ये
कोई हल तो बताओ।
आई फिर आवाज़ कहीं बहुत दूर
अब तक जो लिखा,वो क्या था भला
हमारे सिवा न लिखा कुछ कहीं
शब्दों में लिपटे,भाव हैं वही
जो सोचे हैं तुमने हमारे लिये
सर्वस्व तुम्हारा हम ही तो है-
और हो तुम,सिर्फ हमारे लिये…

13 टिप्पणियाँ

Filed under कविता

13 responses to “सोचा आज कुछ लिखूँ

  1. अंतर्मन सुलझाएगा पहेली
    आज नहीं तो कल
    थोड़ा सा सब्र रख लो बस
    बहुत सुन्दर

  2. निकल पड़ी तो रचना है ..नहीं तो कोई सपना है ……

    भावों को नायाब जामा पहनाया है आपने …

  3. प्रवीण पाण्डेय

    मन कहता यदि, लिख ही डालें।

  4. sundar abhiyvakti ……….
    last line dil ko chu gayi ………..sab to thumhara hi hai

  5. If you can write when ‘kuchch soojha hi nahin’ then what would it be like when you can think and write? Loved it.

  6. ishwarjha

    प्रीतम को पतिया लिखू जो बसे परदेश
    तन में मन में नैन में कहा लिखू सन्देश.
    ऐसा ही होता है जब आप उनके बारे में उदगार प्रकट करने की कोशिश करते हैं जो आपके सर्वश्व हैं. बहूत बढ़िया व् सर्वोत्तम ख्याल.

  7. wow… behad khoobsoorat…
    bas aise hi kalam chalaiye… saare bhaav apne aap hi uker jayenge… 🙂

  8. SANJEEV SRIVASTAVA

    कोई चंद गज़लेँ मेरी गुनगुनाए ,
    कोई गा के अपने प्रिय को सुनाए ।
    यही एक ख्वाहिश है मुद्दत से मेरी ,
    खभी इस गज़ल को तू लव पर सजाए ।।

    संजीव श्रीवास्तव

  9. It has been ages since I read any hindi poetry.You write so beautifully.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s