अजब है जीवन


अजब है जीवन अजब है रूप
हर दिन नई सीख,नया ही स्वरूप
आज जो सोचा,वो था कुछ अलग
पर क्या था न कहने की चाह है अब।
हजारों सवालों का न कोई जवाब
हर जवाब में छुपा इक नया ही सवाल
बेचारियत पे इनकी है किसको रहम
खुद ही उठते गिरते लड़खड़ाते कदम
कभी चाहे उड़ना कभी बस मिटना
जीवन के रूपों की न बात कोई करना।
हैं पल में ये सुंदर तो पल में कुरूप
जीवन समझने की न चाह कभी रखना
हर दिन हर पल,हर साँस है नई
हर साँस में बदलता है जीवन का रूप।
है सभी का ये जीवन,फिर भी है क्यों अलग
हर शख़्स यहाँ रखता है,अनेकों स्वरूप।

Advertisements

15 टिप्पणियाँ

Filed under कविता

15 responses to “अजब है जीवन

  1. जीवन
    जीना है तो
    लड़ना है
    लड़ना है तो
    चोट भी खाना है
    जीवन का अंत
    ऐसे ही होना है

    sadaa kee tarah sundar likhaa hai indujee

  2. अजब है जीवन अजब है रूप
    हर दिन नई सीख,नया ही स्वरूप
    आज जो सोचा,वो था कुछ अलग
    पर क्या था न कहने की चाह है अब।
    बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

  3. रंग अनेक तो सही है, छलछद्म अनेक ना हो… झेलते झेलते सारे रंग बदरंग

  4. anu

    अजब है जीवन सारा
    शब्दों का है ,मायाजाल प्यारा
    हम तो बस गम को पी लेते है
    बाँटने को खुशियाँ निकल पड़ते है ……

  5. wah ek aur sundar rachna, kya baat hai Indu ji
    sachmuch jeevan ko samajhne se jyaada yadi jiya jaaye to jeena aasaan ho jaaye

  6. हर दिन रूप नया दिखलाता है, जीवन अपना।

  7. घुटता जीवन उतना दर्द नहीं देता जितना की ये अहसास की वो घुटन किसी बहुत अपने ने पसारी है जीवन में …..
    पर जिंदगी हमारी शर्तों पर कहाँ चलती है …..ये तो सदैव ही शाश्वत सत्य है झूठा तो जीने वाला होता है ….

  8. कैलिडोस्कोप है जीवन! हर बार देखने पर नया पैटर्न नजर आता है।

  9. Superb words, u made me love again with Hindi poems, I had read madhushala and rashmirathi both r awesome, now u sparked new flame in me to search for new poems. 🙂

  10. अजनबी लगती क्यों है?
    जिंदगी हर रोज नए रंग बदलती क्यों है?
    जीवन हमेशा ही अप्रत्याशित होता है शायद यही इसे इतना रोचक बनाता है|
    बेहतरीन रचना|

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s