कैसे रोकोगे यादों को आने से


रोकोगे कैसे अब यादों को आने से
रुक पाएँगी ना,वो किसी बहाने से
रोक पाया है कभी,कोई सूरज को
निश्चित है उसका आना,आता है
यादों की तपिश है उससे भी अधिक।
कभी-कभी बादल ढक लेते हैं सूरज को
यादों से घना कोई गुच्छा,होता है क्या?
सूरज से तीव्र निकलती हैं वो,
घनेरे मेघ को चीरती हैं वो।
तपिश से अपनी,जो हिम पिघला दे
चाँद से उसकी चाँदनी चुरा ले-
कर दे प्रकृति को निरीह अपने समक्ष
जड़वत संसार ही नज़र आए तब।
कौन रोक सकेगा यादों के आवेग को,
सिवाय बह जाने के यादों के संग
न रुकी हैं कभी न रुकेंगी कभी
रोकोगे कैसे अब यादों को आने से…

Advertisements

31 टिप्पणियाँ

Filed under कविता

31 responses to “कैसे रोकोगे यादों को आने से

  1. rajtela1

    यादों को रोकना
    समय व्यर्थ करना है
    बिना यादों के जीवन
    अधूरा है
    क्या याद रखना
    क्या भूलने की कोशिश
    करना
    जानना भी ज़रूरी है
    बार बार तारीफ करने की
    आवश्यकता नहीं
    तारीफ़ का ना मिटने वाला
    ठप्पा पहले ही कई बार
    लगा चुका हूँ,
    हाँ नयी तस्वीर पर बधायी

  2. Lovely expressions Indu..

    Master says.. Unless you can watch your memories objectively it is not possible to step beyond. Beyond intellect, imagination, wakefullness and dreams… Yet poets are closer to God he says and I feel you might be one of them.

    – Sonica

  3. चाँद से उसकी चाँदनी चुरा ले-
    कर दे प्रकृति को निरीह अपने समक्ष
    जड़वत संसार ही नज़र आए तब।
    कौन रोक सकेगा यादों के आवेग को,
    सिवाय बह जाने के यादों के संग

    bahut khoob
    vaaikai mein yaado ko rokna aasan nahi hain

  4. यादों को रोकना असंभव है।

    सादर

  5. In spite of some obscure Hindi words it is still as beautiful as always!

  6. बेहतरीन कविता ! बहुत ही बढ़िया प्रस्तुति !

  7. रोकोगे कैसे अब यादों को आने से
    रुक पाएँगी ना,वो किसी बहाने से………..indu ji yaado ko rokna asambhav hai .wah to kabhi jati hi nahi balki jyada karib aa jati hai .
    yadeden jeeban ka mahakta , chubhta part jeevan bhar saath ,

    aapki sabhi post acchi hai , der se aane ke liye sorry , bahut dino baad blog par aayi .

    nice pic too ..:)))))))))))))))) love ur post .u too :L)))))))))

  8. बहुत खूब … सच है की यादों को आने से कोई नहीं रोक सकता ये तो बिन बुलाये … बेमौसम … बे समय कभी भी आ जाती हैं …

  9. BEautiful …

    majaal dostaan di ki bisaar den bhala
    dushmana ton v na nahin main bhulaya javaanga

    tera dil patahr hai je — taan leek haan main v
    VEKH lai saari umar na MITAYA javaanga

  10. पूर्ण है प्रवाह तो, धार में बहे चलो..

  11. Indu…!!!! really nice one…!!!

    chalo hum bhi thoda kavita ke style mein comment kar dein….

    यादों को तो आने से नहीं रोक सकते हैं …..
    पर उनका रुख ज़रूर मोड़ सकते हैं
    क्यूंकि यादें सदा अछि नहीं होती….
    कभी हँसते है तो कभी आंसू टपकते हैं…..

    माना की यादों का आवेग है बहुत तेज़ ….
    पर अपने मन की शक्ति को जो पहचान पाए ….
    बुरी यादें उसे बिना छुए गुज़र जाएँ …
    वो सदा अछि यादों को ले के उड़ जाए….!!

    🙂

    Dheeraj

  12. यादें यादें होती हैं
    यादें कभी तूफ़ान बन आती हेई
    कभी बहार
    यादें यादें होती हैं
    कभी अच्हे कभी बुरे
    लेकिन सँभालने पदथे ह
    यादें यादें होती हैं

  13. यादोंका बहना , है जीवन की निशानी ,
    खट्टे- मीठे घटनाओं की पोटली पुरानी |

  14. Very nice….bahut sundar
    the thought reminded me of the old song (sahir): tum agar bhool bhee jao toh yeh haq hai tum ko, meri baat aur hai maine toh mohabbat kee hai…listen to it some time on one of the sites:)

  15. kuch pal youn hi guzar gaye…kuch aur guzar jayen ge
    bus kuch yaden hi to hain …jo aab ban gayi ek sahara hai !
    beautiful Indu !

  16. sou aane sach baat kahi aapne Indu….koi nahi rok sakta yaadon ko aane se….

  17. Munish

    yun to waqt ki gard har tasweer ko kar deti hai dhundla, par dil main utri hui tasveer teri jyon ki tyon kyun hai?

  18. Munish

    Kitne chehre hai duniya me magar
    Hamko ek chehra nazar aata hai
    Duniya ko ab hum kya yaad karen
    Aapki yaadon me waqt sara guzar jata hai…..

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s