नसीब से आज दीदार-ए-यार हो गया


नसीब से आज दीदार-ए-यार हो गया
हर क़लमा खिला,खुश गवार हो गया।

रूह से रूह का ऐतबार आज हो गया
जिस्म प्यार का गवह-गार हो गया।

देखा निगाहों ने जी-भर के आज खुद को
निगाहों को यार की पनाहों से प्यार हो गया।

धड़कनें बढ़ने लगीं-साँस तेज़ चल पड़ी
हो गये यार के जब क़ुबूल-ए-इज़हार हो गया।

अब तो इश्क की मुश्क का आलम न पूछो
यार ही मेरा ख़ुदा,ख़ुदा ही प्यार हो गया।

मौला हर आयत पे है नाम तेरा ही खुदा
आ पढ़ ले अब खुद,आयत ही प्यार हो गया।

30 टिप्पणियाँ

Filed under गज़ल

30 responses to “नसीब से आज दीदार-ए-यार हो गया

  1. यार ही मेरा ख़ुदा,ख़ुदा ही प्यार हो गया।
    Bahut khoobsoorati se urdu ke meethe alfazon se saji ghazal…Shubhkamnayen Indu ji !!

  2. beautiful as always indu..wanted to pick a favorite line but couldn’t decide.. loved all of it!

  3. मैं खुदा का खुदा अब मेरा हो गया
    रोम रोम उसके प्यार में डूब गया

  4. yashwant009

    बहुत ही बढ़िया

    सादर

  5. amitaag

    Lucknow se aapka nata toh jaante hain, lekin itni khoobsoorat Urdu bhi?
    Bahut khoob!

  6. वाह …बहुत खूब
    कल 28/03/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.

    आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!

    … मधुर- मधुर मेरे दीपक जल …

  7. Wonderful, first time I am seeing you go full blast in Urdu…great stuff:)

  8. ashuchaupal

    यार ही मेरा ख़ुदा,ख़ुदा ही प्यार हो गया।…
    इंदु जी लगता है खुदा ना खुद बैठा कर लिखवाई हैं आप से …बहुत खूब………….

  9. अब तो इश्क की मुश्क का आलम न पूछो
    यार ही मेरा ख़ुदा,ख़ुदा ही प्यार हो गया।

    बहुत ख़ूबसूरत पंक्तियाँ ……समर्पण भाव से परिपूर्ण …..बधाई ..

  10. expression

    वाह!!!!
    देखा निगाहों ने जी-भर के आज खुद को
    निगाहों को यार की पनाहों से प्यार हो गया।

    बहुत बहुत सुन्दर इंदु जी….
    अनु

  11. नसीब में न जाने कब दीदार-ए-यार होगा!
    दिल्लगी तो बहुत हो चुकी, ना जाने कब प्यार होगा!

  12. नसीब से आज दीदार-ए-यार हो गया
    हर क़लमा खिला,खुश गवार हो गया।

    रूह से रूह का ऐतबार आज हो गया
    जिस्म प्यार का गवह-गार हो गया।

    देखा निगाहों ने जी-भर के आज खुद को
    निगाहों को यार की पनाहों से प्यार हो गया।…….waah indu ji sach me aaj pyar ho gaya , dil khushgavar ho gaya …..behatarin post

    anand aa gaya dil ko khumar ho gaya nasha – to ad dil ke par ho gaya .

    har line umda …best of the best ….aapki romantic rachnaye sada mujhe acchi lagti hai .:::::::::::::::::::::))))))))))))))))))))))))))) ❤ lovely for u :))))))))

  13. Sanjay Mishraa 'habib'

    बहुत सुन्दर…. वाह!

  14. Arun Sharma

    बहुत खूब पेशकश !!!! अति सुन्दर रचना

  15. kumar prakash

    Indu ji …kya likhu tarif me..aap ke in panktiyo ke samne kuchh v likhna surya ko dipak dikhane ke jayesa hoga…

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s