कोरा कागज़ कई दिनों से


कोरा कागज़ कई दिनों से
चाहे रंगना मोसे
जब भी चाहूँ उसको रंगना
नित मोती ही बरसे
दूजा नाम न रंग पाऊँ अब
कागज़ ये न समझे
तोरा नाम भी श्वेत हुआ है
रंग न कोई बरसे
रंगा पड़ा है तोरे रंग में
सूख न अब ये पाए
गीले कागज़ पर बोलो कैसे
नया कुछ लिख पाए
सूख जाये कागज़ कभी तो
हमको भी बतलाना
सिलवट भरे कागज़ पर
कोई कैसे कलम चलाये
कागज़ की सिलवट पर भी उभरा
इक तोरा ही नाम रे
जब भी झाँकूं उसके अन्दर
चेहरा तोरा ही दरसे
कोरा कागज़ कई दिनों से
चाहे रंगना मोसे …..

Advertisements

10 टिप्पणियाँ

Filed under कविता

10 responses to “कोरा कागज़ कई दिनों से

  1. क्रम नम हुआ,
    तम कम हुआ,
    रंग जूझते,
    रण मन हुआ।

  2. कोरे कागज़ के मनोभाव अच्छे लगे .
    सुन्दर अभिव्यक्ति

  3. यशवन्त माथुर

    कल 05/10/2012 को आपकी यह खूबसूरत पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

  4. सिलवट भरे कागज़ पर
    कोई कैसे कलम चलाये
    कागज़ की सिलवट पर भी उभरा
    इक तोरा ही नाम रे
    जब भी झाँकूं उसके अन्दर
    चेहरा तोरा ही दरसे
    कोरा कागज़ कई दिनों से
    चाहे रंगना मोसे …..waah indu ji bahut sundar bah gaye isme ham lekar kora kagaj badhai

  5. अनाम

    सुन्दर भावनात्मक प्रस्तुति 🙂

  6. कोरा कागज़ कई दिनों से
    चाहे रंगना मोसे
    जब भी चाहूँ उसको रंगना
    नित मोती ही बरसे
    सुंदर भाव …

  7. बहुत सुन्दर, वो गीत याद आ गया…ऐसे तो नहीं उसके रंग में रंगी मैं, पीया अंग लग-लगके हुयी साँवरी मैं 🙂

  8. पोस्ट दिल को छू गयी…….कितने खुबसूरत जज्बात डाल दिए हैं आपने……….बहुत खूब
    बेह्तरीन अभिव्यक्ति .आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
    और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/

  9. anju(anu)

    कोरे कागज़ पर दिल के ज़ज्बात लिख दिए

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s