क्या लिखूँ ?


क्या लिखूँ ?
खुद पर
तुम पर
रिश्तों पर
प्यार पर
क्यों लिखूँ ?
जब झूठ ही लिखना है।
कभी धान
कभी खील
कभी लाई
और कभी उसके
चावल को ही
गला देना है जब।
कैसे लिखूँ उस
कनकी की पीर
अलग कर दिया उसे भी
छानकर, पटक कर।
उड़ती हुई भस
सब ढँक देती है
देखने को कुछ नहीं
कहने को कुछ नहीं
लिखने को कुछ नहीं।

 

Advertisements

18 टिप्पणियाँ

Filed under कविता

18 responses to “क्या लिखूँ ?

  1. क्या लिखूँ ?
    खुद पर
    तुम पर
    रिश्तों पर
    प्यार पर
    क्यों लिखूँ ?
    जब झूठ ही लिखना है।
    bahut sundar bhavpurn rachna Indu !

    खील….. लाई…..कनकी की पीर….छानकर, पटक कर…उड़ती हुई भस …. in shabdon ke prayog ne is rachna ko anupam saundarya pradan kiya hai…. aaj kal aise paramparik shabd sunne ko bahut kam milte hain … man prasann ho gaya..

  2. अनाम

    It’s beautifully crafted, done full justice to the feelings/expressions.

  3. सुन्दर अभिव्यक्ति… मन के उहापोह को शब्दों में बखूबी पिरोया

  4. क्या लिखूँ ?”आप” पर ….
    आपका बहुत बङा फ़ैन हो गया हु,
    औंर आपका अभिव्यक्ति मैं अपने दोस्तो को सुनता हु।

  5. Suder aduvitye abhivakti, Sabdoo ka jadu kamal hai ……..
    Lakin jab kuch nahi hota sab souny hoo jata hai to ekk Naveen prarambh hota hai ~ Gahan Andhkar ke bad Nav prabhat hoti hai…………..

    Sadhuvad

  6. मन का कभी कभी रिक्त होना सुखद है..

  7. अनाम

    ये केसा भेद ,एहसास के कागज पर टूटे मन की कलम से सच ने लिख दिया सब कुछ ….सुंदर भाव है आपकी रचना के

  8. लाजवाब प्रस्तुति | बढ़िया लेखन | विचारों की शिष्ट, सुन्दर तथा विचारात्मक अभिव्यक्ति को प्रणाम |
    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    http://www.tamasha-e-zindagi.blogspot.in
    http://www.facebook.com/tamashaezindagi

  9. govind sharma

    wese aap sahaj likhti hai khub likhti hai dub kar likhti hai.

  10. anju(anu)

    वाह …सही कहा …कभी कभी शब्द कम पड़ जाते हैं कुछ ज़ज्बात लिखने को

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s